महाराणा प्रताप का इतिहास - आसान भाषा में

महाराणा प्रताप का इतिहास/ कहानी सरल शब्दों में । इस आसान से लेख में जानिए Rana Pratap के बारे में । Maharana Partap के जन्म से मृत्यु तक की story थोड़े से words में । भारत के इस वीर पुत्र और राजस्थान के सपूत की गाथा समझिए मात्र एक बार पढ़कर।


मेवाड़ सामान्य ज्ञान, maharana pratap GK Trick,  partap rana, chittod ka kila, Kumbhalgarh, Truth of Maharana, Rana Udai Singh
 Maharana pratap
source : wikipedia


महाराणा प्रताप का जन्म कुंभलगढ़ किले ( Rajsamand) में हुआ।


महाराणा Partap का बचपन का nickname कीका था।


Rana Pratap के पिता का नाम उदय सिंह और माता का name जयवंता बाई था ।


जयवंता बाई के अतिरिक्त  उदय सिंह की दूसरी wife भी थीं जिनका नाम था ;- धीर बाई  इनको रानी भटियाणी के name से भी जाना जाता है।


धीर बाई का भी एक पुत्र था जिसका नाम था जगमाल । यह अपने इस पुत्र को मेवाड़ का Prince या उत्तराधिकारी बनवाना चाहती थी।


अब जैसा कि भारत के अनेक  dynasties (राजवंशों) में हुआ वैसा ही यहां भी हुआ ;  उत्तराधिकार के लिए  दोनों भाइयों में तकरार हुई और  दो खेमे बन गए।


राजपुताना,महाराणा प्रताप की मृत्यु कैसे हुई,महाराणा प्रताप का भाला,महाराणा प्रताप बच्चे,महाराणा प्रताप की कहानी,राणा प्रताप का इतिहास
महाराणा प्रताप की मूर्ति
Ankur P • CC BY SA2.0
(wikipedia)

Senior members , मंत्रियों आदि के सहयोग से प्रताप को उत्तराधिकार प्राप्त हुआ । राणा प्रताप का  दो बार राज्याभिषेक हुआ। पहला1572 ई.में गोगुंदा में और second time इसी वर्ष कुंभलगढ़ में हुआ । दूसरा राज्याभिषेक विधिविधान के according हुआ ।


प्रताप के उत्तराधिकारी बनने पर जगमाल अकबर  की side में चला गया ।


महाराणा प्रताप की ग्यारह wives (पत्नियां) थीं।


अकबर महाराणा प्रताप को अपने under लाना चाहता था वह भी बिना युद्ध के ;  इसलिए उसने दो वर्षों में चार messengers  उनको मनाने के लिए भेजे । इनके names थे जलाल खां, मान सिंह,भगवान दास व टोडरमल । परंतु महाराणा नहीं माने।


महाराणा प्रताप द्वारा मुगलों का प्रस्ताव accept नहीं करने के कारण 1576 ई. में मुगलों तथा  महाराणा प्रताप की सेना के बीच हल्दीघाटी का युद्ध हुआ ।

Maharana pratap,Rana partap,maharana pratap height,maharana pratap spouse,maharana pratap history in hindi,सिसोदिया वंश,Mewar gk
हल्दी घाटी का युद्ध
source : wikipedia


इस युद्ध में अकबर की सेना का नेतृत्व राजा मानसिंह ने किया।   unfortunately राणा प्रताप को इस युद्ध से भागना पड़ा । इस युद्ध में दोनों तरफ की सेनाओं को अत्यधिक नुकसान हुआ। कई इतिहासकारों के अनुसार इस युद्ध में किसी की भी victory (विजय) नहीं हुई क्योंकि महाराणा की मुट्ठी भर सेना ने Mughal army को पीछे हटने पर विवश कर दिया था और मुगल सेना के भी पैर उखड़ने लगे थे ।


हल्दीघाटी के पश्चात 1582 में राणा और मुगलों के बीच दिवेर का battle हुआ जिसे मेवाड़ का मैराथन भी बोला जाता है । इस युद्ध से राना प्रताप को अपना खोया हुआ राज्य दोबारा मिल गया ।


यह युद्ध mughals और राणा की armies (सेनाओं) के मध्य लंबे समय तक चली खींचतान के नतीजतन हुआ।


दिवेर की victory के बाद अगले दो-तीन वर्षो (1585 ई. तक) में राणा ने अपना खोया हुआ राज्य लगभग वापस पा लिया ।


1597 ई. में महाराणा प्रताप की  चावंड में death हो गई । राणा प्रताप ने जीते जी कभी भी मुगल साम्राज्य के समक्ष अपना सिर नहीं झुकाया । उनके डर से अकबर ने अपनी राजधानी change करने लाहौर कर दी थी और महाराणा के देहावसान के बाद दोबारा से आगरा कर दी ।
Share:

रेडक्लिफ रेखा पर राजस्थान के जिले - GK Trick

दोस्तों राजस्थान में रेडक्लिफ रेखा का विस्तार (Redcliffe line) कुल चार जिलों की सीमा तक है। अनेक बार रेडक्लिफ लाइन पर स्थित इन जिलों के नाम remember रखने में कई परेशानियां आती हैं ।
 लेकिन हमारी आज की इस GK Trick को मात्र एक बार पढ़कर आप रैडक्लिफ रेखा पर स्थित इन जिलों के नाम हमेशा के लिए याद कर सकते हैं । 

जिन पाठकों को Redcliffe line के बारे में जानकारी नहीं है तो उन्हें बता दें कि  रैडक्लिफ़ रेखा 1947 में भारत के विभाजन के पश्चात  सीमा आयोग ( जिसके अध्यक्ष थे - सर सिरिल रेडक्लिफ़) द्वारा 17 अगस्त 1947 को खींची गई थी । इसे खींचने का उद्देश्य भारत तथा पाकिस्तान में सीमा का विभाजन करना था । स्वतन्त्रता के बाद यही रेखा भारत और पाकिस्तान के मध्य सीमा बन गई । इससी सीमा पर राजस्थान के चार districts आते हैं ; जिनके नामों के बारे में हम इस लेख में चर्चा कर रहे हैं।

   इस लाइन पर Rajasthan की उत्तर पश्चिम सीमा के चार jile आते हैं ।
   दोस्तों इन जिलों के नाम याद करते समय अनेक बार हम confuse हो जाते हैं । अनेक बार किसी और जिले का नाम याद आने लगता है और वास्तविक जिले कहीं पीछे रह जाते हैं । इसका कारण यह है कि हम प्राय: इन जिलों के नाम रटकर याद करते हैं ।
 दोस्तों रटकर याद किया हुआ सामान्य ज्ञान लंबे समय तक याद नहीं रहता है ;और कई बार आवश्यकता के समय हम इसे भूल भी जाते हैं । इस स्थिति से बचने का एकमात्र उपाय है :- मनोवैज्ञानिक तरीकों से सामान्य ज्ञान याद करना और हम ज्ञानबूस्ट पर इन्हीं  मनोवैज्ञानिक तरीकों को लेकर आते हैं ।
 हमारे द्वारा बनाई गई जीके ट्रिक्स और अन्य सामग्री पूर्ण रूप से मनोवैज्ञानिक सिद्धांतों पर आधारित होती है; जिसमें आपको कुछ भी रटना नहीं पड़ता । अनेक बार तो केवल एक बार पढ़ कर ही samanya gyan याद हो जाता है । यह general knowledge  पढ़ने वालों को आसानी से समझ में आता है और लंबे समय तक याद भी रहता है जरूरत पड़ने पर आपको याद भी आ जाता है । इसलिए हमारा आपसे अनुरोध है कि आप हमारी जीके ट्रिक्स को अधिक से अधिक शेयर करें ताकि ज्यादा से ज्यादा लोगों तक  इसका लाभ पहुंचे । तो चलिए अब ज्यादा समय नहीं लेते हुए बढ़ते हैं हमारी आज की जीके ट्रिक की ओर ।
   जैसा कि हम पहले चर्चा कर चुके हैं कि हमारी आज की जीके ट्रिक संबंधित है राजस्थान के उन जिलों के नाम याद करने से जो पाकिस्तान की सीमा पर यानी रेडक्लिफ रेखा पर स्थित हैं । तो चलिए देखते हैं हमारी आज की जीके ट्रिक और  उसकी व्याख्या :-
राजस्थान में रेडक्लिफ रेखा, Redcliffe line, GK trick, रेडक्लिफ सीमा,रेडक्लिफ रेखा का विस्तार, राजस्थान के जिले, पाकिस्तान की सीमा पर जिले, pakistan border rajasthan


GK Trick :- जै बाबा श्री

व्याख्या :-
  1. जैसलमेर
2. बाड़मेर
 3. बीकानेर
     4. श्रीगंगानगर

तो कैसी लगी आपको हमारी आज की जीके ट्रिक ?

ऐसी ही और जीके ट्रिक्स पाते रहने के लिए हमारी वेबसाइट से जुड़े रहें और हमारा फेसबुक पेज भी लाइक करें ।
धन्यवाद ।
Share:

महाराजा गंगा सिंह विश्वविद्यालय टाइम टेबल

महाराजा गंगासिंह विश्वविद्यालय,बीकानेर ने विभिन्न परीक्षाओं की समय सारिणी की घोषित ।


अभी नीचे दी गई लिंक पर क्लिक करें और विश्वविद्यालय की आधिकारिक वेबसाइट से टाइम टेबल (परीक्षा समय सारिणी) डाउनलोड करें ।
👇👇👇👇

महाराजा गंगासिंह विश्वविद्यालय टाइम टेबल (आधिकारिक वेबसाइट)





Disclaimer:- This link just redirects you to the official website of MGSU,Bikaner . We don't own any of the information available on this link.
Share:

मुगल शासकों के नामों का क्रम / वंशावली याद करने की GK Trick

Gyanboost पर आपका फिर से स्वागत है। हम यहाँ समय समय पर India GK Tricks, Interesting Facts तथा सामान्य ज्ञान समझने के अन्य रोचक तरीके लेकर आते हैं। इसी क्रम में आज हम भारत के मुगल इतिहास से सम्बंधित एक बड़ी ही आसान और रोचक जीके ट्रिक लेकर आए हैं ।


दोस्तों आज की हमारी India GK Trick है मुगल साम्राज्य के शासकों के नामों को सही क्रम में सीखने से ।


अगर हम बगैर GK Trick के इन शासकों के नाम याद करने की कोशिश करते हैं तो हमें कई कठिनाइयां पेश आती हैं। कई बार हम बीच में से किसी एक शासक का नाम भूल जाते हैं तो कई बार हम Mughal शासकों के इन नामों को गलत क्रम में याद कर लेते हैं ; यह सब इसलिए होता है क्योंकि हम इन नामों को रटकर याद करते हैं जो कि एक अमनोवैज्ञानिक तरीका है । इस प्रकार से याद किया हुआ General knowledge का कोई भी topic हम जरूरत पड़ने पर भूल सकते हैं और कई बार किसी प्रतियोगी परीक्षा में हमारी असफलता का कारण भी बन सकता है ।

दोस्तों हमारा दावा है कि अगर आप हमारी इस India GK Trick के माध्यम से मुगल साम्राज्य (Mughal dynasty ) के शासकों के नामों को याद करते हैं तो आप  इन शासकों के नामों के क्रम को कभी भी नहीं भूलेंगे ।

तो चलिए अब बिना अधिक समय गंवाए हमारी आज की ट्रिक को देखते हैं जो कि सम्बन्धित है मुगल वंशावली से ।

बगैर GK Trick के इन Mughal शासकों के नामों की सूची इस प्रकार है :-

1.  बाबर
2.  हुमायूँ
3. अकबर
4. जहाँगीर
5. शाहजहां
6. औरंगजेब


तो आइए अब Mughal dynasty के इन्हीं नामों को GK Trick के माध्यम से याद करते हैं :-


Mughal, emperor, mughal dynasty, मुगल इतिहास,मुगल वंशावली, मुग़ल साम्राज्य,Mugal Empire, बादशाहों के नामों का क्रम, India GK Tricks, History GK, Interesting method

India GK Trick :- बहु आज शो(सो) आ

व्याख्या :-

ब - बाबर
हु - हुमायूँ
आ - अकबर
ज - जहाँगीर
शो - शाहजहाँ
आ - औरंगजेब


तो अब तक आप समझ ही गए होंगे कि इस मनोवैज्ञानिक और रोचक ट्रिक के माध्यम से सामान्य ज्ञान याद करना कितना आसान है । हम भविष्य में अन्य शासकों की वंशावली स्मरण रखने से सम्बंधित अन्य रोचक सामग्री भी शेयर करते रहेंगे । ऐसी ही और अधिक India GK Tricks  व अन्य रोचक शैक्षणिक सामग्री पाते रहने के लिए हमारे फेसबुक पेज व वेबसाइट से जुड़े रहें ।

धन्यवाद
Share:

उदयपुर संभाग के जिलों के नाम याद करने की GK Trick । Rajasthan GK Tricks

दोस्तों आज हम ज्ञानबूस्ट पर लेकर आए हैं Rajasthan GK Tricks की series में एक नई GK Trick  जो कि संबंधित है - उदयपुर संभाग के सभी जिलों के नाम याद करने से ।


  ज्ञान बूस्ट पर हम समय-समय पर राजस्थान के सामान्य ज्ञान (Rajasthan GK) , भारत के सामान्य ज्ञान (India GK) और अन्य सामान्य जानकारी  Interesting methods से समझने की दृष्टि से लेकर आते हैं । हमारी कोशिश रहते हैं कि हम अधिक से अधिक मनोवैज्ञानिक तरीकों से सामान्य ज्ञान और अन्य जानकारी यहां प्रस्तुत करें जिससे पाठकों को एक बार पढ़ कर ही वह समझ आ जाए और साथ ही उसे याद करने में भी आसानी हो ।    

   Gyanboost पर आपको Rajasthan GK Tricks, India GK Tricks, रोचक तथ्य और Tech ज्ञान से संबंधित जानकारी अनेक रोचक तरीकों से मुहैया करवाई जाती है । इन जानकारियों को पाठकों की सुविधा की दृष्टि से सरल भाषा में और मनोवैज्ञानिक तरीकों से लिखा जाता है; जिससे इनका अधिगम अत्यंत सरल होता है ।


   हमारी आज की GK Trick के बारे में बात करें तो हमें विश्वास है कि आप इस Rajasthan GK Trick को एक बार पढ़ कर ही आसानी से याद कर सकते हैं और अगर आपने एक बार यह ट्रिक याद कर ली तो इस ट्रिक के माध्यम से Udaipur संभाग के सभी districts के नाम आपको चुटकियों में याद हो जाएंगे ।

   दोस्तों हमारा हमेशा से ही यह प्रयास रहा है कि हम ऐसे नए-नए तरीके और GK Tricks खोज कर लाएं जिससे General Knowledge (सामान्य ज्ञान) सीखने में किसी भी प्रकार की कोई दिक्कत का सामना ना करना पड़े ।

   आज की Udaipur Sambhag ke jilo के नाम याद करने वाली ट्रिक भी उसी कड़ी का एक हिस्सा है उदयपुर संभाग (Udaipur Smbhag) में कुल 6 जिले आते हैं । उदयपुर संभाग के इन छ: जिलों के नामों को एक-एक कर याद करना एक बड़ा सिरदर्द बन सकता है ।

   उदयपुर संभाग की भौगोलिक स्थिति कुछ इस प्रकार है कि कई बार हमें इस संभाग के जिलों का अन्य संभागों के जिलों के नामों के साथ confusion हो जाता है । ऐसी स्थिति में कई बार हम इस संभाग के जिलों को या तो अन्य संभाग के जिलों के साथ जोड़ देते हैं अथवा किसी अन्य संभाग के जिले को उदयपुर संभाग का जिला मान लेते हैं । इसका reason यह होता कि हम उदयपुर संभाग के जिलों के नाम रटकर याद करते हैं ; यकीन मानिए केवल उदयपुर संभाग के जिले ही नहीं अगर आप किसी अन्य संभाग के जिलों के नाम भी रटकर याद करेंगे तो समय आने पर इनके आपस में mix होने की आशंका रहती है । इसलिए हमारी सलाह है कि अगर आप उदयपुर संभाग या अन्य किसी भी संभाग के जिलों के नाम याद करना चाहते हैं तो उन्हें किसी ट्रिक के माध्यम से ही याद करें । हमने उदयपुर संभाग के अतिरिक्त अन्य सभी संभागों के जिलों के नाम याद करने हेतु समय-समय पर विभिन्न GK Tricks इस वेबसाइट पर उपलब्ध कराए हैं और भविष्य में भी हम ऐसी ही Rajasthan GK Tricks और India GK Tricks उपलब्ध करवाते रहेंगे । आप  इन GK Tricks को नीचे दी गई लिंक में से किसी भी जिले के नाम के ऊपर click करके पा सकते हैं ।

   राजस्थान के सभी संभाग तथा उनमें आने वाले सभी जिलों के नाम याद करने की GK ट्रिक्स =>

Rajasthan GK Trick 1. राजस्थान के सभी संभागों के नाम याद करने की Rajasthan GK Trick

 Rajasthan GK Trick 2. जोधपुर संभाग के जिलों के नाम की Rajasthan GK Trick

 Rajasthan GK Trick 3 . जयपुर संभाग के जिलों के नाम की Rajasthan GK Trick

 Rajasthan GK Trick 4. भरतपुर संभाग के जिलों के नाम की Rajasthan GK Trick

 Rajasthan GK Trick 5. कोटा संभाग के जिलों के नाम की Rajasthan GK Trick

 Rajasthan GK Trick 6. बीकानेर संभाग के जिलों के नाम की Rajasthan GK Trick

 Rajasthan GK Trick 7. अजमेर संभाग के जिलों के नाम की Rajasthan GK Trick  

   तो चलिए बढ़ते हैं हमारी आज की Rajasthan GK Trick की ओर ।

    बिना ट्रिक के याद करें तो उदयपुर संभाग में कुल 6 जिले आते हैं ; जिनके नाम है :-

1. प्रतापगढ़
2. उदयपुर
3. राजसमंद
4. चित्तौड़गढ़
5. डूंगरपुर   और
6. बांसवाड़ा

   बिना किसी GK Trick के इन नामों को याद करने पर कई बार confusion हो सकता है । इसी confusion को दूर करने के लिए हम आज की Rajasthan GK Trick आपके लिए लेकर आए हैं तो अब बिना अधिक समय गंवाए बढ़ते हैं हमारी आज की राजस्थान जीके ट्रिक की ओर

   इस जीके ट्रिक को स्मरण करके आप उदयपुर संभाग के सभी जिलों के नाम बिना किसी परेशानी के याद कर सकेंगे और हमें विश्वास है कि  अगर आप इस Rajasthan GK Trick को याद कर ले तो भविष्य में उदयपुर संभाग के सभी जिलों के नाम कभी नहीं भूलेंगे ।
Udaipur Sambhag ke jile, Districts of Udaipur Sambhag, Udaipur Sambhag, GK Trick, Rajasthan GK Trick, RAJ GK Tricks, GK Sutra, GK Short Tricks, GK Tricks PDF, India GK Tricks, Rajasthan ke sambhag, Rajasthan ka samanya gyan, Tricky GK, General knowledge of Rajasthan, Interesting facts about Rajasthan, Rajasthan GK Tricks app, उदयपुर संभाग के जिले, राजस्थान सामान्य ज्ञान, राजस्थान जीके ट्रिक, सामान्य ज्ञान सूत्र, राजस्थान के संभाग, संभागों के नाम , राजस्थान में कितने संभाग
उदयपुर संभाग के जिले



उदयपुर संभाग के जिले (Udaipur Sambhag ke jile )


GK Trick :- प्रतापउदय राचि डूबा

व्याख्या :-

 प्रताप - प्रतापगढ़
 उदय  - उदयपुर
 रा -  राजसमन्द
 चि - चित्तौड़गढ़
 डू  - डूंगरपुर
 बा - बाँसवाड़ा



   यह थी हमारी आज की Rajasthan GK से जुड़ी एक Trick जो कि संबंधित है उदयपुर संभाग के जिलों के नाम याद करने से । आप हमारे इस ब्लॉग पर और भी कई प्रकार की जीके ट्रिक्स देख सकते हैं हमारे ब्लॉग के सभी जीके ट्रिक्स एक स्थान पर देखने के लिए इस लिंक पर क्लिक कीजिए =>

GK Tricks on Gyanboost

   उम्मीद है आपको हमारी आज की Rajasthan GK Trick पसंद आई होगी ।
अगर आप इसी प्रकार की अन्य  GK Tricks और राजस्थान तथा भारत के सामान्य ज्ञान से जुड़ी अन्य शिक्षण सामग्री नियमित रूप से पाना चाहते हैं तो हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें । हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए आप इस लिंक पर क्लिक कर सकते हैं =>

ज्ञानबूस्ट फेसबुक पेज

 धन्यवाद

Share:

जानिए Debit Card और Credit Card का अंतर आसान भाषा में

दोस्तों आपने अक्सर लोगों को Credit Card और Debit Card के बारे में बात करते सुना होगा या किसी online shopping website या app  से खरीददारी करते time या कोई Recharge करते time payment options के रूप में देखा होगा । 

Debit card, credit card, difference, difference card, what is Debit Card and Credit Card, ATM card, debit or credit, debit aur credit card, क्रेडिट और डेबिट कार्ड का अंतर, क्रेडिट ओर डेबिट कार्ड, क्रेडिट कार्ड,डेबिट कार्ड, क्रेडिट कार्ड कैसे बनाएं, एटीएम कार्ड और डेबिट कार्ड का अंतर, एटीएम कार्ड, ए टी एम कार्ड
Credit and Debit Cards


कई लोग Credit Card और Debit card को एक ही चीज़ मानते हैं और कई लोगों में इनके प्रति अनेक भ्रांतियां हैं ।  इसी प्रकार की confusions को दूर करने के लिए प्रस्तुत है यह post
   

   जब भी हम किसी बैंक से कार्ड इश्यू करवाते हैं तो वह दो प्रकार के कार्ड हमें जारी करते हैं एक होता है Credit Card  और दूसरा होता है Debit Card 


Debit card, credit card, difference, difference card, what is Debit Card and Credit Card, ATM card, debit or credit, debit aur credit card, क्रेडिट और डेबिट कार्ड का अंतर, क्रेडिट ओर डेबिट कार्ड, क्रेडिट कार्ड,डेबिट कार्ड, क्रेडिट कार्ड कैसे बनाएं, एटीएम कार्ड और डेबिट कार्ड का अंतर, एटीएम कार्ड, ए टी एम कार्ड
Credit Card vs Debit Card


 अनेक लोग क्रेडिट और डेबिट कार्ड को एक ही मानते हैं लेकिन ऐसा नहीं है इन दोनों में अंतर है और इन दोनों में क्या difference है वह हम आज इस पोस्ट के माध्यम से जानेंगे । इस पोस्ट में इन दोनों के अंतर को सरल भाषा में समझाने का पूरा प्रयास किया गया है साथ ही इसे संक्षिप्त रखने का भी एक प्रयास किया गया तो चलिए जानते हैं Credit और Debit Card का अंतर ।



Debit Card


Debit card, credit card, difference, difference card, what is Debit Card and Credit Card, ATM card, debit or credit, debit aur credit card, क्रेडिट और डेबिट कार्ड का अंतर, क्रेडिट ओर डेबिट कार्ड, क्रेडिट कार्ड,डेबिट कार्ड, क्रेडिट कार्ड कैसे बनाएं, एटीएम कार्ड और डेबिट कार्ड का अंतर, एटीएम कार्ड, ए टी एम कार्ड
Debit Card

दोस्तों जब हम किसी बैंक में अपना खाता खुलवाते हैं तो बैंक हमें एक Plastic Card देता है उस कार्ड को हम आम बोलचाल की भाषा में ATM Card भी कहते हैं ।
 
    इस कार्ड का काम यह होता है कि इसका use करके हम हमारे account में जितना भी balance है उसका प्रयोग कर सकते हैं । हम उसका प्रयोग shopping करने के लिए या किसी भी अन्य प्रकार के payment में लिए कर सकते हैं । इसके प्रयोग से जो रुपया  यूज होता है वह हमारे  उस bank account से ही कट कर प्रयोग होता है जिससे यह card लिंक होता है ; यानी इसमें हम हमारे account में जो पैसा है उसी का सीधा सीधा प्रयोग करते हैं और जब हमारे अकाउंट में पैसा खत्म हो जाता है तमाम इससे किसी भी प्रकार की पेमेंट नहीं कर सकते हैं ।

   यही होता है डेबिट कार्ड ।

   यानी यह एक प्रकार से हमारे खाते से जुड़ा हुआ एक Plastic का बना एक Card होता है ; जिसका प्रयोग हम अपने खाते में पड़े हुए पैसे के लेनदेन के लिए कर सकते हैं ।  सामान्य तौर पर आजकल किसी भी बैंक में खाता खुलवाते ही यह जारी कर दिया जाता है ।

Credit Card

Debit card, credit card, difference, difference card, what is Debit Card and Credit Card, ATM card, debit or credit, debit aur credit card, क्रेडिट और डेबिट कार्ड का अंतर, क्रेडिट ओर डेबिट कार्ड, क्रेडिट कार्ड,डेबिट कार्ड, क्रेडिट कार्ड कैसे बनाएं, एटीएम कार्ड और डेबिट कार्ड का अंतर, एटीएम कार्ड, ए टी एम कार्ड
Credit Card


   Credit Card, Debit Card के जैसा ही एक Plastic का बना Card होता है लेकिन इनमें मूलभूत अंतर होता है ।

   जब आप किसी Bank से Credit Card issue  करवाते हैं तो इसका मतलब है कि आप उस बैंक से लोन ले रहे हैं । इस loan की रकम उतने ही होती है जितनी आपके क्रेडिट कार्ड की limit होती है । जैसे 50 हजार, एक लाख या अन्य कोई रकम ।

   जब आप किसी को क्रेडिट कार्ड से payment करते हैं तो उसका मतलब आप ने जो लोन लिया हुआ है उसी में से आप यह भुगतान करते हैं।  
   एक तरह से जब आप आप क्रेडिट कार्ड से भुगतान करते हैं तो यह भुगतान आप बैंक से उधार लेकर करते हैं रहे हैं फिर यही उधार की रकम जैसा किसी bank का billing cycle  होता है  (जैसे - 30 दिन या 50 दिन ) उसमें आपको यह रकम लौटानी होती है ।
    सरल शब्दों में कहें तो Credit Card में सिर्फ बैंक खाते ही नहीं बल्कि उधार लिए हुए पैसे का भी प्रयोग किया जाता है । जो एक लोन के रूप में लिया जाता है और एक निश्चित अवधि के अंदर वापस करना पड़ता है ।


Debit card, credit card, difference, difference card, what is Debit Card and Credit Card, ATM card, debit or credit, debit aur credit card, क्रेडिट और डेबिट कार्ड का अंतर, क्रेडिट ओर डेबिट कार्ड, क्रेडिट कार्ड,डेबिट कार्ड, क्रेडिट कार्ड कैसे बनाएं, एटीएम कार्ड और डेबिट कार्ड का अंतर, एटीएम कार्ड, ए टी एम कार्ड
Using plastic cards online


तो अब प्रश्न यह उठता है कि क्रेडिट कार्ड का आखिर क्या फायदा है और क्या हमें Credit Card जारी करवाना भी चाहिए ?


 देखिए सबसे पहली बात तो यह है कि Bank वाले सभी को क्रेडिट कार्ड जारी ही नहीं करते  हैं । वे पहले आपके account का जायजा लेते हैं कि आपका अकाउंट नियमित रूप से maintain  हो रहा है या नहीं ?

   हर महीने पैसा आ जा रहा है कि नहीं ?

   और कुछ अन्य  factors भी देखे जाते हैं ; और उनके मानदंडों पर आपके खरा उतरने के बाद ही क्रेडिट कार्ड जारी किया जाता है ।

   अब थोड़ी देर रुक कर सोचिए  कि उधार लिए हुए रुपये का प्रयोग करके करना अच्छा है या फिर आपका खुद का पैसा ?

   आपकी राय इस पर भिन्न हो सकते हैं लेकिन हमारी राय में आपका खुद का पैसा या Debit Card  का ही प्रयोग करना सही रहता है  ।

   जो Credit Card होता है उसमें कई पेंच होते हैं । सबसे पहले तो इसमें आपको एक limit बना कर दी जाती है (जैसे 50,000 या 100000) उस limit से ज्यादा आप इसका use नहीं कर सकते ।

   और दूसरी बात कि अगर आप इसका यूज करते हो तो आपको क्रेडिट कार्ड से लिए गए रुपए पर बड़ी दर के साथ ब्याज देना पड़ता है  और यह काफी ज्यादा होता है ।
   और अनेक बार क्रेडिट कार्ड में कई  hidden charges भी होते हैं जिनका पता हमें बाद में चलता है ।


Debit card, credit card, difference, difference card, what is Debit Card and Credit Card, ATM card, debit or credit, debit aur credit card, क्रेडिट और डेबिट कार्ड का अंतर, क्रेडिट ओर डेबिट कार्ड, क्रेडिट कार्ड,डेबिट कार्ड, क्रेडिट कार्ड कैसे बनाएं, एटीएम कार्ड और डेबिट कार्ड का अंतर, एटीएम कार्ड, ए टी एम कार्ड
Using Credit and Debit Cards

    कई लोग credit card लेकर बहुत सारा पैसा एक प्रकार से loan ले लेते हैं और बाद में इस रुपए का भुगतान करने में असमर्थ होने के कारण धीरे-धीरे कर्ज में चले जाते हैं इसलिए credit card को कोई खेल ना समझें और समझदारी के साथ इसका प्रयोग करें ।

    इसलिए हमारी सलाह है की आप Credit Card के इस मायाजाल में ना पड़कर Debit Card ही प्रयोग करते रहें जिससे वह रुपए प्राप्त होता है जो कि आपका खुद का रुपया है ।

    बाकी यह हमारी निजी राय है आप की राय इससे अलग हो सकती है ।

    आप अगर इसका प्रयोग करना भी चाहे तो हमारी एक  सलाह है कि आप पूरी समझदारी के साथ ही  इसका प्रयोग करें ।

    उम्मीद है कि हमारी इस पोस्ट से आपके मन में Credit और Debit Card के बारे में जो भी  शंकाएँ थी वह solve हो चुकी होंगी । इसके अलावा किसी भी प्रकार का प्रश्न आप इस पोस्ट के नीचे कमेंट सेक्शन में पूछ सकते हैं।
 हम से जुड़े रहने के लिए आप हमारे facebook page को like करें ।

    ऐसी ही अन्य ज्ञानवर्धक पोस्ट्स, GK Tricks और अन्य शिक्षण सामग्री के लिए हमारे blog से जुड़े रहे ।
 
 धन्यवाद
Share:

भारत के उन राज्यों के नाम जिन पर से होकर कर्क रेखा गुजरती है - GK Trick

Gyanboost पर आज हम लेकर आए हैं India GK से related एक बहुत ही आसान GK Trick


   Bharat का Samanya Gyan पढ़ते समय अनेक बार कुछ ऐसे topics हमारे सामने आते हैं जिनमें हमें उसी topic से सम्बंधित अनेक राज्यों के नाम याद करने पड़ते हैं । अब चूंकि भारत में इतने सारे states हैं तो कई बार हम इनके नामों में confuse हो जाते हैं कि किस rajya का नाम यहाँ आएगा और किस राज्य का नहीं और इसी प्रकार की उलझन में हम किसी competitive exam में ऐसा कोई प्रश्न गलत कर सकते हैं जिससे हमें बाद में पछताना पड़ सकता है ।


   Gyanboost पर हमारा निरन्तर यही प्रयास रहता है कि हम नई-नई GK Short Tricks तथा अन्य रोचक तरीकों से General knowledge याद करने के methods लेकर आएं जिससे GK से सम्बंधित ऐसे जटिल बिंदुओं को याद भी किया जा सके और इन्हें जल्दी भूला भी न जाए ।

   इसी कड़ी में आज हम अपने सभी प्रिय पाठकों के लिए लेकर आए हैं भारत के उन सभी राज्यों के नाम learn करने की GK Trick ; जिनसे होकर कर्क रेखा गुजरती है ।

   प्रिय पाठकों ; भारत में ऐसे कुल आठ states हैं जिनसे होकर कर्क रेखा गुजरती है । जैसा कि हमने आपको पहले ही बताया इनके नाम याद करके रखने में कई बार मुश्किल आती है लेकिन हमारा दावा है कि इस India GK Trick को एक बार learn करने के बाद आप इन राज्यों के नाम कभी नहीं भूलेंगे ।

   इस easy सी GK Short Trick को एक बार पढ़कर ही आप इसे आसानी से सीख सकते हैं और यह आसान सी GK Trick आपकी किसी भी प्रतियोगी परीक्षा में काम आ सकती है इसलिए हमारी यह सलाह है कि आप इस GK Trick को ध्यानपूर्वक पढ़ें ।

   आईए अब देखते हैं हमारी आज की India GK Trick

India GK Tricks, India GK Short Tricks, GK Tricks PDF, India States GK, Samanya gyan, Sutra, Political GK, Bharat GK, General knowledge, Hindi GK, Tricky GK, Gk short trick book in hindi, Rajasthan GK Trick, GK Trick 2018, ,कर्क रेखा भारत के राज्य

   भारत के उन राज्यों के नाम जिनके ऊपर से कर्क रेखा होकर गुज़रती है |


GK Trick :-  झुमरू के छबंग मित्र



व्याख्या:-

झु - झारखंड
म - मध्यप्रदेश
रू - राजस्थान
छ - छत्तीसगढ़
बं - बंगाल (प० बंगाल)
ग - गुजरात
मि - मिज़ोरम
त्र -  त्रिपुरा

   यह थी हमारी आज की GK Short Trick जो सम्बन्धित है India GK से । ऐसी ही अनेक GK Tricks और India GK को learnसे related अन्य interesting methods के लिए Gyanboost ब्लॉग को समय समय पर चेक करते रहें ।
Share: